इस सदी में दुनिया का सबसे विकसित देश बनेगा भारत : मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के अध्यक्ष और देश के सबसे धनी शख्स मुकेश अंबानी ने कहा है कि भारत में वर्ष 2030 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का दम है और यह इसी सदी में अमेरिका और चीन को पीछे छोड़ देगा।
 
यहां शुक्रवार को एक कार्यक्रम में अंबानी ने कहा कि पश्चिमी वर्चस्व के 300 वर्षों के बाद, एक बार फिर दुनिया भारत और चीन की तरफ देख रही है। भारत की वृद्धि दर चीन की तुलना में अधिक होगी और यह ज्यादा आकर्षक होगी। उन्होंने कहा कि 13 साल पहले मैंने कहा था कि भारत पांच लाख डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा। आज यह सच साबित होता दिख रहा है। वर्ष 2024 तक भारत पांच लाख डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

मुकेश अंबानी से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या भारत और चीन के बीच और भारत और अमेरिका के बीच के अंतर को कम किया जा सकता है, तो उन्होंने कहा- हां! उन्होंने कहा कि इसी सदी में भारत अमेरिका और चीन को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का सबसे विकसित देश बन जाएगा।

तकनीक की बुनियाद पर चौथी औद्योगिक क्रांति

सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि हर तकनीकी क्रांति अपने साथ वैश्विक बदलाव लाती है। चौथी औद्योगिक क्रांति इंटरनेट डाटा जैसे कनेक्टिविटी, कंप्यूटिंग और आर्टिफिशयल इंटेलिजेंसी की बुनियाद पर होगी। जो टेक्नोलॉजी को नहीं अपना पाएंगे, वह अप्रासंगिक हो जाएंगे। आज का मानव सुपर इंटेलिजेंस के जमाने में जी रहा है। चीन के लिए जो काम मैन्यूफैक्चरिंग ने किया, वह काम भारत के लिए सुपर इंटेलिजेंस कर सकता है। 

उन्होंने कहा कि नए जमाने में डाटा कच्चे तेल (क्रूड ऑयल) का काम करेगा। उन्होंने कहा कि भारत की विशाल युवा आबादी इसे स्टार्टअप नेशन के रूप में बदल सकती है। डाटा नए जमाने में तेल का काम करेगी। यह नयी मिट्टी होगी। उन्होंने कहा कि महज एक साल पहले भारत ब्राडबैंड के मामले में 150 वें स्थान पर था, जबकि अब पहले नंबर पर है।