सर्दियों के मौसम में अमृत से कम नहीं ये ‘देशी बादाम’

1468834426-8393मूंगफली तो आप सब ने खायी होगी लेकिन क्या आपको पता है इसका सेवन शरीर पर क्या प्रभाव करता है? सर्दियों का बादाम कही जाने वाली मूंगफली का सेवन करने से शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं। इसके साथ ही यह आपको शारीरिक और मानसिक शक्ति भी देती है।

आयुर्वेद के अनुसार मूंगफली टीबी नाशक और मूत्र संबंधी रोगों में लाभदायक है। मूंगफली का प्रयोग इसके बीजों व तेल के रूप में किया जाता है। मूंगफली और भी कई मायनों में लाभदायक बतायी गई है। जिनके बारे में जानने के लिए आपको बस दी हुई जानकारी का सही इस्तेमाल करना है।

  • सर्दियों में अक्सर त्वचा फटने की समस्या और हाथ-पैरों में खुश्की की परेशानी रहती है। एैसे में कच्ची मूंगफली खाने से चेहरा साफ व मुलायम हो जाता है।
  • मूंगफली के तेल में लिनोलिन एसिड की भरपूर मात्रा होती है। मूंगफली का तेल क्षय रोग यानी टीबी की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।
  • मूंगफली का तेल दिल के मरीजों के लिए बेहद उपयोगी है। यह तेल कोलेस्ट्रोल की मात्रा को रोक देता है जिससे हर्ट अटैक की संभावना कम हो जाती है।
  • मूंगफली के तेल की मालिश करने से हाथ-पैर के जोड़ों का दर्द ठीक होने लगता है।
  • मूंगफली का तेल खाज-खुजली आदि को भी ठीक करता है। मूंगफली के तेल को हल्का गर्म करके त्वचा पर लगाना चाहिए।

कई लोगों का कहना है कि, मूंगफली खाने से खांसी होने लगती है। लेकिन ऐसा नहीं है। यदि मूंगफली के लाल छिलकों को उतार कर इसका सेवन करें और इसके बाद पानी न पीएं तो,  खांसी कभी हो नहीं सकती।