दिल टूटने का असर कुछ ऐसा होता है

किसी भी तरह का रिश्ता जब दो राहों पर आ जाता है तब किसी एक चीज का चुनाव करना ही पड़ता है. अक्सर ऐसे मोड़ रिश्तो में ही देखने को ही मिलते है. दिल टूटने से लेकर किसी करीबी से धोखा मिलना, इस तरह की परिस्थिति इंसान को तोड़ कर रख देती है.

कई बार ऐसी परिस्थिति में लोग डिप्रेशन का शिकार तक हो जाते है. यदि आपका दिल भी टूटा है तो इन बातो को अपना कर खुद को तकलीफ से आजाद कर सकते है. कई बार दिल टूटना अक्सर लोगों के लिए जानलेवा भी हो जाता है. कई लोग खुद को इस मुसीबत से उबार लेते है.

कई लोगों को एहसास हो जाता है कि जिंदगी खत्म नहीं हुई बल्कि जिंदगी का नाम ही आगे बढ़ना है. कई लोगों को इस बात का एहसास होता है कि जिंदगी में सब कुछ निश्चित नहीं होता है, जिंदगी में कभी भी कुछ भी हो सकता है. ऐसे समय में आपको खुद को तराशने का मौका मिलता है. दिल टूटने के बाद सबसे पहला बदलाव व्यक्ति में आता है वह होता है मैच्योर बर्ताव. दिल टूटने के बाद इंसान मैच्योर हो जाता है.