नोटबंदी में स्विस बैंक हुए मालामाल…

स्विस बैंक में पिछले एक साल में भारतीयों के जमा धन में करीब 50% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है जो तीन साल से लगातार घट रहे आंकड़ों से कही ज्यादा है इसका सीधा सीधा नाता नोटबंदी से है. या यु कहे की ये नोटबंदी के दुष्परिणाम है.   स्विस बैंक ने जो आंकड़े जारी किए हैं –
वह 2017 के हैं और नोटबंदी 8 नवंबर, 2016 को लागू हुई थी. 
नवंबर 2016 और 2017 के बीच सबसे ज्यादा पैसा स्विस बैंक पहुंचा.
स्विस बैंक खातों में जमा भारतीय धन 2016 में 45 प्रतिशत घटकर 67.6 करोड़ फ्रैंक (लगभग 4500 करोड़ रुपए) रह गया था.
 बैंक की तरफ से 1987 में आंकड़े देने की शुरुआत के बाद से ये सबसे कम का आंकड़ा था.
अब 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. 
स्विस बैंक खातों में 2017 में लगभग 6891 करोड़ रुपए (99.9 करोड़ फ्रैंक) हो गया.
 इसके अलावा प्रतिनिधियों के जरिए रखा गया पैसा इस दौरान 112 करोड़ रुपए (1.62 करोड़ फ्रैंक) रहा.

गौरतलब है कि विपक्ष के लाख कहने के बाद भी आज तक सरकार काले धन के आंकड़े नोटबंदी के बाद भी पेश नहीं कर रही है. इस खबर के बाद शायद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वो भाषण और उसकी सच्चाई याद आ रहे है जिसमे उन्होंने  कहा था कि ”पहले चर्चा होती थी, कितना गया.. लेकिन अब चर्चा होती है कितना आया.”