कर्नाटक सरकार खतरे में, कांग्रेस के 9 विधायक सिद्धारमैया की शरण में

कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार का फ़िलहाल 5 साल तक टिके रहना काफी मुश्किल लग रहा है. कर्नाटक में चुनाव परिणाम आने के बाद से ही वहां की राजनीति में नित नए-नए नाटक देखने को मिले है. कर्नाटक में एक माह पहले बनी सरकार पर अभी से ही टूटने का खतरा मंडराने लगा है. इसे लेकर आज भी कुछ इस तरह का नजारा देखने को मिला. जब कांग्रेस के 9 विधायक कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से मिलने पहुंच गए. इससे एक बार फिर यह कहा जा रहा है कि जल्द ही कांग्रेस-जेडीएस का यह गठबंधन टूट सकता हैं. 

 

सिद्धारमैया और कांग्रेस के 9 विधायकों की मुलाकात ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के होश तो पूरी तरह उड़ा ही दिए हैं. इस मुलाकात के चलते कुमारस्वामी और जेडीएस की मुश्किलों में भी इजाफा देखने को मिल सकता हैं. बता दे कि सरकार बनने के बाद से ही सिद्धारमैया और जेडीएस में मतभेद उभरने लगे थे. वहीं ताजा ख़बरों की माने तो सिद्धारमैया का कुमारस्वामी के साथ नए बजट पेश करने को भी लेकर मतभेद है.

 

कर्नाटक सरकार के बजट पेश करने को लेकर सिद्धारमैया चाहते है कि कर्नाटक की मौजूदा सरकार उसी बजट को आगे की ओर बढ़ाए जो बजट उनके मुख्यमंत्री रहते हुए फरवरी माह में पेश किया गया था. सिद्धारमैया की इस मांग को जेडीएस प्रमुख देवेगौड़ा भी नकार चुके हैं. बता दे कि आगामी 5 जुलाई को बजट पेश किया जाएगा. और इसे लेकर दोनों पार्टियों के पास विचार-विमर्श करने के लिए काफी कम समय बचा हुआ हैं.