लगातार बैंक घोटालों की क्या है सच्चाई ?

मोदी सरकार के राज में लगातार हो रहे बैंक घोटालों पर अब कांग्रेस ने तीखा प्रहार करते हुए कहा है कि देश इस समय बड़ी आर्थिक समस्याओं से जूझ रहा और बैंक मंडी झेल रहे है. कांग्रेस ने अपने बयान में कहा है कि मोदी राज में अब तक 13 बैंकों में हुए कुल घोटालों की रकम करीब 70000 करोड़ रुपए है. 

वहीं इस बारे में कांग्रेस ने आगे आरोप लगाते हुए कहा है कि फरीदाबाद स्थित डायवर्सिफाइड कंपनी, एसआरएस समूह आपराधिक साजिश, ठगी और 6,978 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी में लिप्त रही है जिसने कथित तौर पर सैकड़ों फर्जी कंपनियों के जरिये 17 बैंकों को चूना लगाया है. वहीं कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कम्पनी काला धन सफेद करने के साथ-साथ धोखधड़ी भी कर रही है. 

वहीं मोदी सरकार के राज में लगातार गिर रहे एनपीए के बारे में कांग्रेस ने कहा कि जो एनपीए 2013-14 में 2,63,000 करोड़ रुपये था वह बढ़कर 10,30,000 करोड़ रुपये हो गया है. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता ने इस बारे में कहा कि वित्तवर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में भारतीय बैंकों का घाटा 90,000. इन घोटालों को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है और यह बात किसी से छुपी भी नहीं है कि हाल ही में हुए बैंकिंग घोटालों और नोटबंदी बैंकों और लोगों ने बहुत घाटा सहा है, देश के कई व्यापारी तो अभी जीएसटी से बाहर ही नहीं आ पा रहे है.