कश्मीर जैसी कहानी बिहार में भी दोहरा सकती है भाजपा : कांग्रेस

वडोदरा। जम्मू कश्मीर की गठबंधन सरकार से भाजपा द्वारा समर्थन वापस लिए जाने के बाद, कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने शनिवार को कहा कि इसकी पृष्ठभूमि में बिहार में जद (यू) की अगुवाई वाली सरकार से भाजपा के समर्थन वापसी की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। कांग्रेस के बिहार प्रभारी गोहिल ने गरीब उत्तरी राज्य को विशेष श्रेणी का दर्ज़ा न देने के लिए मोदी सरकार की आलोचना की है।

उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नीति आयोग के हाल की बैठक में जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा देने की मांग का मुद्दा उठाया तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसे स्वीकार करने से इंकार कर दिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पिछले रविवार को नीति आयोग की बैठक में प्रधानमंत्री द्बारा ‘ अपमानित ’ किये जाने के बाद भी नीतीश कुमार ने भाजपा की अगुवाई में राजग में बने रहने का निर्णय लिया है।

वहीं बात की जाए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पीडीपी से समर्थन वापस ले लेने के अपने फैसले को सही ठहराया है। जिसके बाद  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार का रवैया आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने वाला है पर अब राज्य के संतुलित विकास पर बात करने की जरूरत है। उन्होंने राज्य में पीडीपी नीत सरकार से समर्थन वापस ले लेने के अपने फैसले को सही ठहराया और कहा कि यह फैसला राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था और उचित विकास सुनिश्चित करने में राज्य सरकार की विफलता को देखते हुए लिया गया।