2019 लोस और 2021 विस चुनाव के लिए वामदलों से गठबंधन चाहती है बंगाल कांग्रेस

कोलकाता । पश्चिम बंगाल कांग्रेस 2019 के लोकसभा चुनाव और 2021 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तृणमूल कांग्रेस की बजाय वामदलों से गठबंधन चाहती है। पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने आलाकमान को यह सुझाव ऐसे समय भेजा है, जब दो दिन पहले तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि भाजपा, माकपा और माओवादियों के साथ कांग्रेस भी अब तृणमूल के खिलाफ एकजुट हो गई है।

कांग्रेस की राज्य इकाई ने भाजपा-तृणमूल को कैसे हराया जाए, इस विषय पर 21 सुझावों की सूची पार्टी हाईकमान को भेजी है। कांग्रेस नेता ओमप्रकाश मिश्रा ने कहा, ‘हम अगले चुनाव में सत्ताधारी तृणमूल से नहीं, वाम दलों से गठबंधन चाहते हैं। पार्टी को भेजी गई रिपोर्ट में न केवल 2019 लोकसभा चुनाव को देखते हुए सुझाव दिए गए हैं, बल्कि 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में तृणमूल को हराने और सत्ता में आने के लिए कुछ योजनाएं भी तैयार की गईं हैं।’

गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस व वामदलों के बीच सीटों पर समझौता हुआ था, जिसकी वजह से माकपा को नुकसान हुआ था लेकिन कांग्रेस को काफी फायदा हुआ। उसी की बदौलत कांग्रेस 44 सीटें जीतकर विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल बनकर उभरी थी, हालांकि पिछले दो वर्षों में एक दर्जन से अधिक कांग्रेस विधायक व नेता तृणमूल में शामिल हो चुके हैं। मुर्शिदाबाद व मालदा जिला, जिसे कांग्रेस का गढ़ माना जाता है, वहां भी पार्टी को तृणमूल ने झटका देते हुए कांग्रेस की कमर तोड़ दी है। पंचायत चुनाव में मुर्शिदाबाद व मालदा में कांग्रेस हाशिए पर चली गई।